Slider फुटबॉल राष्ट्रीय

मालदीव को हरा भारत सैफ फुटबॉल के फाइनल में

सात बार के चैंपियन भारत ने बुधवार को माले में मेजबान और मौजूदा चैंपियन मालदीव को हराकर 2021 दक्षिण एशियाई फुटबॉल महासंघ (एसएएफएफ) चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया। कप्तान सुनील छेत्री ने भारत की 3-1 से जीत में ब्रेस बनाया। भारत ने इस जीत से कुल 3 अंक कमाए और राउंड रॉबिन स्टेज में टॉप पर रही। भारत का फाइनल में सामना पड़ोसी देश नेपाल के साथ होगा। जीत के प्रमुख हीरो रहे कप्तान सुनील छेत्री जिन्होंने 2 गोल दागे।

दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में 158वीं विश्व रैंकिंग वाली मेजबान मालदीव के खिलाफ 107वीं फीफा रैंकिंग वाली भारतीय टीम ने शुरुआत से ही मौके बनाने की कोशिश की। 30वें मिनट में सुनील छेत्री के पास एक शानदार हेडर को गोल में तब्दील करने का मौका था , लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। लेकिन फिर 33वें मिनट में ही मनवीर सिंह ने बेहतरीन गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। लेकिन 45वें मिनट में मालदीव को पेनेल्टी मिली और उनके अनुभवी खिलाड़ी अशफाक ने इसे गोल में डालकर मैच 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

दूसरे हाफ की शुरुआत से ही भारत ने आक्रामक खेल दिखाया। 62वें मिनट में मनवीर के असिस्ट को कप्तान छेत्री ने गोल पोस्ट के अंदर डालकर टीम को 2-1 की बढ़त दिला दी। मालदीव की टीम पहले ही पिछड़ रही थी, और 71वें मिनट में छेत्री ने शानदार हेडर से गोल किया और मुकाबले में भारत को 3-1 की निर्णायक बढ़त दिला दी। खास बात ये है कि 2018 में हुए सैफ कप के फाइनल में मालदीव ने भारत को हराया था, और इस बार भारत ने मालदीव को हराकर उन्हें टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। सुनील छेत्री को उनके 2 गोल के लिए मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड दिया गया। छेत्री ने पिछले ही मैच में सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय गोल के मामले में ब्राजील के महान फुटबॉल खिलाड़ी पेले की बराबरी 77 गोल के साथ की थी और इस मैच के बाद पेले को 79 गोल के साथ पीछे छोड़ दिया।

भारत-मालदीव के इस मैच में रेफरी कार्ड दिखाने के मूड से ही आए थे। मैच के 81वें मिनट में एक बेहद अजीब मौका देखने को मिला जब रेफरी ने भारतीय कोच स्टिमाक को रेड कार्ड दिखा दिया। नए नियमों के हिसाब से रेफरी खिलाड़ियों के अलावा टीम के कोच, सहायक कोच, और बाकी स्टाफ को भी पीला और लाल कार्ड दिखा सकते हैं। लाल कार्ड दिखाए जाने के बाद भारतीय कोच स्टिमाक को मैदान की लाईन के पास से हटकर बाहर जाना पड़ा। इतना ही नहीं रेफरी ने अन्य भारतीय ऑफिशियल को भी पीला कार्ड दिखाया।

Related posts

उत्तराखंड अंडर-19 बालक क्रिकेट टीम घोषित

admin

शहीद स्मृति इनामी क्रिकेट प्रतियोगिता में प्रिंस एकेडमी विजयी, अनूप चमके

admin

भागलपुर में सोनू मेमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट कल से

admin

Leave a Comment