34 C
Patna
Monday, May 27, 2024

पीकेएल-7 : दिल्ली को हराकर बंगाल ने जीता खिताब

अहमदाबाद। मोहम्मद नबी बक्श के सुपर-10 के दम पर बंगाल वॉरियर्स ने शनिवार को यहां ट्रांस्टेडिया स्थित एका एरेना स्टेडियम में खेले गए प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सातवें सीजन के रोमांचक फाइनल में दबंग दिल्ली को 39-34 से हराकर पहली बार खिताब जीत लिया।

दोनों टीमें पहले हाफ में 17-17 से बराबरी पर थीं। लेकिन, बंगाल ने दूसरे हाफ में अच्छी वापसी करते हुए 39-34 से मैच जीतकर पहली बार चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया।

दिल्ली की टीम पहले पांच मिनट तक 7-2 से आगे थी। दिल्ली ने इसके बाद अगले मिनट में ही बंगाल को आल आउट कर 11-3 की बढ़त बना ली। अगले 10 मिनट में बंगाल ने भी वापसी कर ली और दिल्ली को ऑल आउट करके स्कोर 14-15 कर दिया। बंगाल की टीम अब मात्र एक अंक से पीछे थी और 18वें मिनट में उसने 16-16 से बराबरी भी हासिल कर ली।

इसके बाद बंगाल ने पहली बार मैच में बढ़त बना ली। लेकिन, दिल्ली ने भी एक अंक लेकर स्कोर 17-17 से बराबर कर दिया। पहले हाफ की समाप्ति तक दिल्ली के नवीन कुमार ने छह और बंगाल के मोहम्मद नबी बक्श ने सात अंक लिए। दिल्ली के लिए मेराज शेख ने इस दौरान अपने 350 रेड प्वाइंटस पूरे किए।

दूसरे हाफ के पहले पांच मिनट तक भी दोनों टीमें 19-19 से बराबरी पर थीं। लेकिन, इसके बाद बंगाल ने दिल्ली को आल आउट करके 25-21 की बढ़त बना ली। इस दौरान दिल्ली के नवीन ने इस सीजन का अपना लगातार 21वां और कुल 22वां सुपर-10 पूरा किया।

मैच समाप्त होने में अब आठ मिनट का ही समय बचा था और बंगाल की टीम ने दिल्ली को फिर से आल आउट करके 10 अंकों की महत्वपूर्ण बढ़त लेकर स्कोर 34-24 तक पहुंचा दिया।

बंगाल ने यहां लगातार अपनी बढ़त को कायम रखते हुए दिल्ली को वापसी का कोई मौका नहीं दिया और 39-34 से मैच जीतकर पहली बार चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया।

चैंपियन बंगाल के लिए मोहम्मद नबी बक्श के सुपर टेन के अलावा सुकेश हेगड़े ने आठ अंक लिए। टीम को रेड से 22, टैकल से 10, आल आउट से छह और एक अतिरिक्त अंक मिला।

दिल्ली के लिए नवीन के 18 अंकों के अलावा अनिल कुमार ने तीन अंक लिए। टीम को रेड से 27,टैकल से तीन, आल आउट से दो और दो अतिरिक्त अंक मिले।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!
Verified by MonsterInsights