26 C
Patna
Tuesday, October 4, 2022

बिहार में खुल रहे मलखंभ अखाड़ा को मिलेगा अनुदान

Must read

पटना। बिहार में तेजी से बढ़ रहे मलखंभ खेल को देखते हुए मलखंभ फेडरेशन ऑफ इंडिया (एमएफआइ) और केंद्र सरकार की योजना खेलों इंडिया ने यहां खुल रहे अखाड़ों को मदद करने का निर्णय लिया है। इस संदर्भ में केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू से मिलने के बाद एमएफआइ के अध्यक्ष डॉ. रमेश इंदोलिया ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि खेलो इंडिया योजना के तहत बिहार में चार अखाड़े खोलने की मंजूरी दी गई है। प्रत्येक अखाड़ा को ढ़ाई लाख रुपये के उपकरण दिए जाएंगे, जिसमें रोप, पोल, हैंगिंग, मैट और अन्य सामान शामिल हैं। इतना ही नहीं अखाड़े को चलाने वाले प्रशिक्षक को भी दस हजार रुपये दिए जाएंगे। प्रत्येक अखाड़ा में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले सौ प्रशिक्षुओं को किट्स दिए जाएंगे, जिससे उन्हें अभ्यास करने में परेशानी न हो।

इदोलिया ने बताया कि बिहार में मलखंभ का इतिहास पुराना रहा है। मुझे उम्मीद है आने वाले दिनों में चार अखाड़ों से नेशनल में पदक विजेता बच्चे निकलेंगे, जिनके लिए केंद्र सरकार ने इस साल से स्कॉलरशिप की व्यवस्था की है। इस बार नेशनल में जूनियर और सब जूनियर में पदक विजेता 105 बच्चों को एक साल के लिए 10-10 हजार रुपये प्रत्येक माह स्कॉलरशिप दिए गए हैं। इसके अलावा नई टीमों को प्रोत्साहित करने के लिए अगले नेशनल टूर्नामेंट में पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर आने वाले खिलाड़ियों को नकद राशि दी जाएगी।

बिहार समेत अन्य राज्यों में खुलने वाले मलखंभ अखाड़े की निगरानी और वहां के बच्चों को विशेष ट्रेनिंग देने के लिए पांच प्रशिक्षकों का चयन किया जाएगा, जिनका साक्षात्कार आठ सितंबर को गोवा में होगा। चयनित प्रशिक्षकों को 40-40 हजार रुपये सैलरी मिलेगी। इंदोलिया ने इस बात पर खुशी जतायी कि पिछले दिनों भरतपुर में हुए पांच दिनों के कोचेज वर्कशाप में शामिल बिहार के चार प्रशिक्षकों ने अपनी काबिलियत दिखाई है। उनका भविष्य उज्ज्वल है। भरतपुर से लौटे प्रशिक्षक प्रभु सिंह, राहुल चौहान, रोहित, बी सिंह ने बताया कि इस तरह के आयोजन आगे भी होने से उन्हें काफी फायदा होगा।

टोक्यो ओलंपिक में डेमो दिखाएंगे मलखंभ खिलाड़ी : फिट इंडिया और खेलो इंडिया के सलाहकार समिति में शामिल किए गए इंदोलिया ने कहा कि मलखंभ का डेमो देखकर प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया अभियान की शुरुआत की। अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में मलखंभ को डेमो खेल के रूप में शामिल किया गया है, जिसमें पूरे भारत से 46 खिलाड़ी शामिल होंगे। बिहार के खिलाड़ियों के पास भी जापान जाने का सुनहरा मौका होगा।

बिहार में अखाड़े की शुरुआत 6 सितंबर को : प्रवीण
पटना : बिहार मलखंभ संघ के महासचिव प्रवीण कुमार मिश्रा ने बताया ने एमएफआइ पदाधिकारियों को भरोसा दिलाया कि वे उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करेंगे। छह सितंबर को पटना के शेखपुरा स्थित केंद्रीय स्कूल में राज्य का पहला अखाड़ा शुरू हो रहा है। साथ ही एमएफआइ के निर्देश पर 27 सितंबर को केंद्रीय स्कूल में डेमो दिखाया जाएगा, जिसमें केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू के अलावा बिहार के खेल मंत्री प्रमोद कुमार को भी आमंत्रित किया जाएगा।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!