29 C
Patna
Monday, May 20, 2024

राष्ट्रीय पैरा सीटिंग बॉलीबॉल में झारखंड महिला टीम को रजत पदक

तमिलनाडु के सिरूवचूर( पेरंबलूर), में पैरा सीटिंग बॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के तत्वावधान में फेडरेशन कप का 7 और 8 अप्रैल 2023 को आयोजन किया गया । इस प्रतियोगिता में कुल 8 राज्यों की सर्वश्रेष्ठ टीमों ने हिस्सा लिया था।
राज्य खेलकूद विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में झारखण्ड की महिला दल ने रजत पदक पर कब्जा कर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी धाक जमाई। झारखण्ड महिला टीम की कप्तान प्रतिमा तिर्की को दमदार प्रदर्शन के लिए बेस्ट प्लेयर ऑफ वूमेन से सम्मानित किया गया। 7 अप्रैल से आयोजित प्रतियोगिता में झारखण्ड के दोनों महिला एवं पुरुष वर्गों ने भाग लिया। पुरुष वर्ग को प्रतियोगिता में चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा। विदित हो कि दिव्यांगजनों का पैरा सीटिंग प्रतियोगिता झारखण्ड के लिए बिल्कुल नया है और दोनों वर्गों में राज्य की टीम दूसरी बार भाग ले रही थी।

पुरुष टीम के कप्तान चंदन लोहारा, मुकेश कंचन, थॉमस हेब्रोम, सनोज महतो, पवन लकड़ा, राजेश कुमार मेहता, कमलेश कुमार, वागीश त्रिपाठी ,राजू कर्मकार ,अमित भास्कर , अंकुश कुमार भगत और भोला लकड़ा।
जबकि महिला टीम के कप्तान प्रतिमा तिर्की, अनीता तिर्की, पुष्पा मिज, तारामणि लकड़ा, महिमा उरांव, असुंता टोप्पो,लीला कुमारी , संजुक्ता एक्का, जयश्री कुमारी ,सीता कर्मकार ने बेहतरीन प्रदर्शन किया।

This image has an empty alt attribute; its file name is JK-International-School.jpg

झारखंड वापसी पर खिलाड़ियों को हटिया रेलवे स्टेशन पर पंचायत सोदाग के युवा मुखिया पतरस तिर्की, सोदाग गांव के सिमोन बखला द्वारा भव्य स्वागत किया गया । पारा ओलंपिक एसोसिएशन ऑफ झारखंड के अध्यक्ष श्री राहुल मेहता, झारखंड डिसएबल क्रिकेट एसोसिएशन की सचिव सरिता सिन्हा, झारखंड दिव्यांग पार्टी के अध्यक्ष डॉ शमशेर आलम राही, संजू कुमारी एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने दल का फूल माला से स्वागत करते हुए उन्हें बधाई दी।

प्रतिमा तिर्की ने कहा कि यह सपना सच होने जैसा है। दल के सदस्य अन्य राज्यों के अनुभवी टीम को देखकर थोड़ा नर्वस थीं। लेकिन मेन्टर मुकेश कंचन के मार्गदर्शन और हौसला से लड़कियों ने जी जान लगा दिया। महिमा ने कहा कि अनुभव की कमी के कारण गोल्ड नहीं ला सके लेकिन अगले वर्ष का लक्ष्य गोल्ड ही है।

झारखण्ड पैरा सीटिंग बॉलीबॉल टीम को दिव्यांगजनों के लिए काम करने वाले विभिन्न संस्थाओ और नेटवर्क ने बधाई दी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!
Verified by MonsterInsights