29 C
Patna
Thursday, June 30, 2022

7 जुलाई को रांची में 44वें शतरंज ओलंपियाड के मशाल रिले का होगा आगमन

Must read

44वें शतरंज ओलंपियाड के लिए निकला ऐतिहासिक मशाल रिले का रांची में आगमन 7 जुलाई को होगा। झारखंड में रिले केवल रांची ही जायेगा। पटना से राजगीर और गया होते हुए रांची आयेगा मशाल रिले। रांची के बाद यह कोलकाता, सिलीगुढ़ी होते हुए आगे बढ़ेगा।

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में 44वें शतरंज ओलंपियाड (44th Chess Olympiad) के लिए ऐतिहासिक मशाल रिले का शुभारंभ किया था। दुनिया के सबसे बड़े शतरंज आयोजन के 44वें संस्करण का आयोजन 28 जुलाई से 10 अगस्त तक चेन्नई के पास महाबलीपुरम में होगा।

अंतरराष्ट्रीय शतरंज निकाय (FIDE) ने पहली बार मशाल रिले की स्थापना की है, जो ओलंपिक परंपरा का हिस्सा है, लेकिन शतरंज ओलंपियाड में पहले कभी ऐसा नहीं किया गया था। भारत शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले रखने वाला पहला देश होगा।

इस मशाल को चेन्नई के पास महाबलीपुरम पहुंचने से पहले 40 दिनों की अवधि में लेह, श्रीनगर, जयपुर, सूरत, मुंबई, भोपाल, पटना, कोलकाता, गंगटोक, हैदराबाद, बेंगलुरु, त्रिशूर, पोर्ट ब्लेयर और कन्याकुमारी जैसे अन्य 75 शहरों में ले जाया जाएगा। हर स्थान पर प्रदेश के शतरंज महारथियों को मशाल थमाई जाएगी।

शतरंज ओलंपियाड के लगभग 100 वर्षों के इतिहास में यह पहली बार है कि भारत प्रतिष्ठित आयोजन की मेजबानी करेगा। आगामी ओलंपियाड के लिए पंजीकृत 188 देशों के साथ देश पहली बार भारतीय धरती पर एक खेल आयोजन के लिए राष्ट्रों की एक विशाल सभा का गवाह बनने के लिए तैयार है।

44वां शतरंज ओलंपियाड 28 जुलाई से 10 अगस्त 2022 तक चेन्नई में आयोजित किया जाएगा। 1927 से आयोजित इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता की मेजबानी पहली बार भारत में और 30 साल बाद एशिया में की जा रही है। 189 देशों के भाग लेने के साथ यह किसी भी शतरंज ओलंपियाड में सबसे बड़ी भागीदारी होगी।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article