विजय हजारे ट्रॉफी : बाबुल का शतक, केशव का हरफनमौला खेल, बिहार जीता

0
6885

KANDARAP MEHTA
Kheldhaba.Com@आनंद (गुजरात)
बाबुल (नाबाद 121 रन) के शानदार शतक और केशव कुमार (दो विकेट, 76 रन) के हरफनमौला खेल की बदौलत 14 साल बाद बीसीसीआई के घरेलू टूर्नामेंट के सीनियर वर्ग में खेल रही बिहार क्रिकेट टीम ने शानदार जीत हासिल की। बिहार ने इस मैच में नागालैंड को आठ विकेटों से हरा कर आनंद में आनंदमयी जीत से इस सत्र का शानदार आगाज किया। नागालैंड ने बिहार को 254 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे बिहार ने 43.4 ओवर में 2 विकेट पर 254 रन बना कर हासिल कर लिया।


बुधवार को विजय हजारे ट्रॉफी के अंतर्गत शहर के शास्त्री मैदान पर खेले जा रहे इस मैच में टॉस नागालैंड ने जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। नागालैंड के ओपनिंग बल्लेबाजों नितेश और सेजले ने शानदार शुरुआत की और इन दोनों के बीच 116 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी हुई।

इन दोनों ने बिहार के गेंदबाजों को जम कर खेला। बिहार की ओर गेंदबाजी की शुरुआत रेहान खान ने की थी। बिहार को पहली सफलता 21.2 ओवर में समर कादरी ने दिलाई जब उन्होंने नितेश को 79 रनों के स्कोर पर रोहित राज के हाथों कैच करवाया। इसी ओवर की अंतिम गेंद पर समर कादरी को एक और सफलता मिले और उन्होंने दूसरे सलामी बल्लेबाज सेजहालिये को बाबुल के हाथों कैच कराया।


नागालैंड ने नितेश ने 69 गेंदों में 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से 79 और सेजहालिए ने 63 गेंद में चार चौकों व एक छक्कों की मदद से 35 रन बनाये। इसके बाद नागालैंड की पारी को केवी पवन और अबरार काजी ने मिल कर संभाला। केवी पवन और अबरार काजी के बीच 36 रनों की साझेदारी हुई।

इस साझेदारी को तोड़ा बिहार के स्टार क्रिकेटर व उपकप्तान केशव कुमार ने। केशव कुमार ने अबरार काजी को पगबाधा आउट कर नागालैंड को तीसरा झटका दिया। इस समय टीम का स्कोर 152 रन था। काजी ने 29 गेंद में एक छक्का की मदद से 19 रन बनाये। यह विकेट 30 ओवर की आखिरी गेंद पर गिरा था। एक ओवर बाद केशव कुमार ने केवी पवन को भी चलता किया। उसे पवन को 21 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड किया। इस समय टीम का स्कोर 157 रन था।


इसके बाद नागालैंड के तीन विकेट जल्दी-जल्दी गिर गए। 21 रन जोड़ कर नागालैंड ने अपने तीन विकेट खो दिये। कप्तान जोनाथन 9, पारस 8 और जिमोमी एक रन बना कर लौट गए। जोनाथन को समर कादरी ने अपनी ही गेंद पर कैच किया जबकि पारस रेहान खान की गेंद पर विकेटकीपर विकास रंजन के हाथों कैच हुए। जिमोमी को रेहान खान के पगबाधा आउट किया।


इसके बाद नागालैंड की ढहती पारी को इमलीवाती (नाबाद 45 रन) ने रवि (15 रन) और तहमीद (नाबाद 10) के साथ मिल कर आगे बढ़ाया और 50 ओवर की समाप्ति पर 8 विकेट पर 253 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में मदद की।


बिहार को सबसझे ज्यादा निराशा अपने कप्तान और टेस्ट प्लेयर प्रज्ञान ओझा से लगी। प्रज्ञान ओझा को एक भी सफलता हाथ नहीं लगी। प्रज्ञान ने 8 ओवर में 48 रन खर्च किये और खाली हाथ रहे।
समर कादरी ने 9 ओवर में दो मेडन फेंककर 35 रन दिये और तीन विकेट भी चटकाये। केशव कुमार ने 8 ओवर में 35 रन देकर दो, आशुतोष अमन ने 9 ओवर में 31 रन देकर एक विकेट चटकाये। अनुनय नाराय सिंह ने सात ओवर में 46 रन देकर कोई भी विकेट नहीं चटकाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here