ये हैं वे चार क्रिकेटर जिन्होंने दो देशों की ओर से विश्व कप खेला है

0
51
Icc world cup cricket

विश्व कप क्रिकेट का बुखार चरम पर है। हर कोई विश्व कप क्रिकेट के मैचों की चर्चा कर रहा है। स्कूलों में छुट्टियां है बच्चे भी इसके बारे में खूब चर्चा कर रहे हैं और टीवी पर मैच का आनंद ले रहे हैं। खेलढाबा.कॉम में विश्व कप क्रिकेट जुड़ी बातें आपतक पहुंचाने के लिए प्रयासरत है। इसी कड़ी में आपको बता रहा है कि किन-किन क्रिकेटरों ने दो देशों का प्रतिनिधित्व करते हुए विश्व कप में हिस्सा लिया है तो जानिए-

अबतक हुए विश्व कप क्रिकेट के 12 संस्करणों में चार ऐसे क्रिकेटर हैं जो दो देशों की ओर विश्व कप क्रिकेट में हिस्सा लिया है। इनमें से एक क्रिकेटर इस विश्व कप में खेल ही नहीं रहे हैं बल्कि उस देश का प्रतिनिधित्व भी कर रहे हैं।
दो देशों की ओर से विश्व कप में हिस्सा लेने वाले पहले खिलाड़ी केप्लर वेसेल्स हैं। अभी जो खिलाड़ी विश्व कप में खेल रहे हैं वे इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मोर्गन। वे चौथे विश्व कप में खेल रहे हैं। तीन बार वे इंग्लैंड की ओर से खेले जबकि एक बार आयरलैंड की ओर से हिस्सा लिया। इसके अलावा एड जोएस और एंडरसन कमिंस ने भी दो देशों की ओर से विश्व कप में हिस्सा लिया है।
Eoin Morgan1. इयॉन मॉर्गन (आयरलैंड और इंग्लैंड)
आयरलैंड के डबलिन में इयॉन मोर्गन का जन्म हुआ। उन्होंने 16 साल की उम्र में आयरलैंड की ओर खेलना शुरू किया। वर्ष 2007 में वेस्टइंडीज में हुए विश्व कप क्रिकेट में हिस्सा लिया। मोर्गन के प्रदर्शन की बदौलत आयरलैंड ने वर्ष 2009 में भारत में हुए 2011 विश्व कप के लिए क्वालिफाई किया पर मोर्गन ने आयरलैंड को छोड़ कर इंग्लैंड के लिए खेलना शुरू कर दिया। 2011 वल्र्ड कप में इंग्लिश टीम के लिए उन्होंने तीन मैच में दो अर्धशतक लगाए थे। वे 2015 वल्र्ड कप टीम का भी हिस्सा थे।
capler vessels

2. केप्लर वेसेल्स (ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका)
केप्लर वेसेल्स पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो देशों के लिए विश्व कप खेला है। वेसेल्स ने क्रिकेट कैरियर की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के क्विंसलैंड में की। वे वहां से ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय टीम में चुने गए। 1982 में उन्होंने डेब्यू किया था। वेसेल्स को 1983 वल्र्ड कप की टीम में भी चुना गया था। उस टीम की कप्तानी किम ह्यूज ने की थी। वेसेल्स इसके नौ साल बाद दोबारा वल्र्ड कप टीम में चुने गए, लेकिन दूसरे देश के कप्तान के तौर पर। 1992 वल्र्ड कप में वेसेल्स ने दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की थी। उन्हें 1995 में विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुना गया था।
Ed Joyce3. एड जॉएस (इंग्लैंड और आयरलैंड)
मोर्गन के अलावा एड जोएस है जिन्होंने इंग्लैंड और आयरलैंड के लिए खेला है। वर्ष 2007 में वेस्टइंडीज में हुए विश्व कप में एड जोएस इंग्लैंड टीम के हिस्सा थे। वे टॉप ऑर्डर के बैट्समैन थे। वे 2011 वल्र्ड कप में आयरलैंड की टीम में शामिल थे। आईसीसी से स्पेशल परमिशन लेकर उन्होंने आयरिश टीम को ज्वाइन किया था। जोएस 2015 वल्र्ड कप भी आयरलैंड के लिए खेले थे।
Anderson cummins4. एंडरसन कमिंस (वेस्टइंडीज और कनाडा)
एंडरसन कमिंस का जन्म वेस्टइंडीज के बारबाडोस में हुआ था। उन्होंने ऑलराउंडर के तौर पर 1991 में वेस्टइंडीज के लिए डेब्यू किया था। इसके बाद उन्हें 1992 वल्र्ड कप टीम में भी शामिल किया गया था। इसके 15 साल बाद कमिंस आश्चर्यजनक रूप से कनाडा की टीम में शामिल थे। 2007 वल्र्ड कप में वे 40 साल के थे। टीम की कमान जॉन डेविसन के हाथों में थी। कनाडा की टीम ग्रुप दौर में ही बाहर हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here