काश कोई मेरी गेंदबाजी पर भरोसा किया होता : कोहली

0
309
Virat kohli

साउथम्पटन। मेरी गेंदबाजी पर कोई भरोसा ही नहीं करता है नहीं तो मैं भी एक बेहतर गेंदबाज बन सकता है। यह बातेंअपनी बल्लेबाजी से कई रिकॉर्ड स्थापित कर चुके भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व कप के प्रसारणकर्ता के साथ बातचीत में मजाकिया लहजे में कहा। इस बात को लेकर उन्होंने एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया।

कोहली ने मजाकिया लहजे में बताया कि आखिर क्यों उन्होंने दिसंबर 2017 के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी नहीं की।

भारतीय कप्तान ने कहा, श्रीलंका (2017 में) में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के दौरान हम लगभग सारे मैच जीत रहे थे। मैंने महेंद्र सिंह धौनी से पूछा कि क्या मैं गेंदबाजी कर सकता हूं। जैसे ही मैं गेंदबाजी के लिए तैयार हुआ बुमराह (जसप्रीत) बाउंड्री से चिल्लाया और कहा, कोई मजाक नहीं, यह अंतरराष्ट्रीय मैच है।

उन्होंने कहा, टीम में किसी को भी मेरी गेंदबाजी पर उतना भरोसा नहीं है जितना मुझे है। इसके बाद मेरी पीठ में तकलीफ हो गई और इसके बाद मैंने कभी गेंदबाजी नहीं की। कोहली अब भी नेट पर गेंदबाजी करते हैं और इस हफ्ते यहां अभ्यास सत्र के दौरान भी उन्होंने गेंदबाजी की।

कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार जबकि टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी इतने ही विकेट चटकाए हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 163 गेंद फेंकी लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिली।

इस स्टार बल्लेबाज ने एक ऐसी घटना का जिक्र किया जिससे पता चलता है कि उन्होंने हमेशा अपनी गेंदबाजी को गंभीरता से लिया।

कोहली ने कहा, ‘‘जब मैं अकादमी (दिल्ली में) में था तो मैं जेम्स एंडरसन के एक्शन से गेंदबाजी करने का प्रयास करता था। बाद में जब मुझे उनके साथ खेलने का मौका मिला तो मैंने उन्हें यह बात बताई। हम दोनों इस पर काफी हंसे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here