क्रिकेट राष्ट्रीय

ये हैं विश्व क्रिकेट के 5 महान गेंदबाज, जिन्होंने कभी नो बॉल नहीं फेंका

शैलेंद्र कुमार
क्रिकेट में एक गेंदबाज के लिए सबसे खराब बात तब होती है जब उसके द्वारा फेंकी गई गेंद नो बॉल हो जाती है। इससे बल्लेबाजी साइड को फायदा ही फायदा होता है। रन भी मिलते हैं और एक अतिरिक्त गेंद भी। साथ ही उस गेंद पर केवल रन आउट ही हो सकता है। अब तो नॉ बॉल पर फ्री हिट भी मिलने लगे हैं जिस पर केवल रन आउट होता है।

आमतौर पर नोबॉल तेज गेंदबाजों के द्वारा ही ज्यादा फेंके जाते हैं पर विश्व के ऐसे नामी गेंदबाज हैं जिन्होंने अपने कैरियर में एक भी नोबॉल नहीं फेंके हैं। वैसे ही पांच गेंदबाजों के बारे में आज खेलढाबा.कॉम आपको बताने जा रहा है। इन पांच गेंदबाजों में चार फास्ट और एक स्पिन गेंदबाज है। तो आइए जानते हैं कि कौन हैं वो पांच गेंदबाज…

कपिलदेव : भारत के विश्व विजेता कप्तान कपिल देव ने नहीं फेंका एक भी नो बॉल। कपिल देव निखंज ने अपने पूरे क्रिकेटिंग करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंका। 1978 में टेस्ट में पदार्पण करने वाले कपिल देव ने भारत के लिए 131 टेस्ट और 225 वनडे मुकाबलों में बल्ले से क्रमश: 5248 और 3783 रन बनाए, वहीं उनके नाम 434 टेस्ट और 253 वनडे विकेट दर्ज हैं। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में 5000 से ज्यादा रन और 400 से अधिक विकेट लेने वाले वो दुनिया के अकेले क्रिकेटर हैं। कपिल देव ने अपने 16 साल के क्रिकेट करियर में एक बार भी नो बॉल नहीं फेंका।

इमरान खान : पाकिस्तान के महान कप्तान इमरान खान ने कभी नो बॉल नहीं फेंका। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 88 टेस्ट मैचों में 3807 रन बनाए और 362 विकेट चटकाए। उन्होंने 175 वनडे मैचों में 3709 रन बनाए और 182 विकेट चटकाए। एक करिश्माई कप्तान के रूप में इमरान खान को याद किया जाता है, जिन्होंने अपने पूरे क्रिकेट करियर में एक बार भी नो बॉल नहीं फेंका।

इयान बॉथम : इंग्लैंड के पूर्व कप्तान इयान बॉथम को विश्व क्रिकेट के महानतम ऑलराउंडर्स में से एक गिना जाता है। टेस्ट और वनडे दोनों में इयान बॉथम बैट और बल्ले से इंग्लैंड के लिए मैच विजेता खिलाड़ी रहे। 15 साल लंबे क्रिकेट करियर में बॉथम ने 102 मैचों में 383 विकेट चटकाए वहीं बल्ले से 5,200 रन बनाए। उन्होंने 116 वनडे मुकाबलों में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें उनके नाम 2,113 रन और 145 विकेट दर्ज हैं। इस महान खिलाड़ी ने विश्व क्रिकेट को बताया कि अनुशासन क्या होता है। उन्होंने अपने 16 साल लंबे क्रिकेट कैरियर में कभी भी 6 गेंदों से अधिक का ओवर नहीं फेंका।

डेनिस लिली : इस पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर को विश्व क्रिकेट को मिलने वाले महान तेज गेंदबाजों में से एक माना जाता है। डेनिस लिली टेस्ट क्रिकेट में 350 विकेट लेने वाले पहले तेज गेंदबाज थे। डेनिस लिली ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 70 टेस्ट मैचों में 355 विकेट चटकाए, उन्होंने नाम 23 बार पारी में पांच विकेट और 7 बार मैच में दस विकेट लिए। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 63 वनडे मुकाबले खेले, जिसमें उनके नाम 103 विकेट दर्ज हैं। रफ्तार का सौदागर होने के बावजूद डेनिस लिली का संतुलन और नियंत्रण इतना शानदार था कि उन्होंने कभी अपने पांव बॉलिंग क्रीज से आगे नहीं पड़ने दिए।

लांस गिब्स : वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेट लांस गिब्स को टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सफल स्पिन गेंदबाजों में गिना जाता है। लांस गिब्स इंग्लैंड के फ्रेड ट्रूमैन के बाद टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज थे, वहीं ये कारनामा करने वाले दुनिया के पहले स्पिनर थे। इस ऑफ स्पिनर ने वेस्टइंडीज के लिए 79 टेस्ट और 3 वनडे मुकाबले खेले, जिसमें उन्होंने कुल 311 विकेट चटकाए। लेकिन जॉर्जटाउन में जन्में इस क्रिकेटर ने कभी भी नो बॉल नहीं फेंका और ऐसा करने वाले वो दुनिया के एकमात्र स्पिनर हैं।

Related posts

दलीप ट्रॉफी : इंडिया रेड के पास 114 रनों की बढ़त

admin

शतरंज ओलंपियाड में भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगे आनंद व हंपी

admin

बीसीसीआई-सीओए ने राज्य संघों के चुनावों की तारीख बढ़ाई

admin

Leave a Comment